Back
Year : 2019 | Volume : 7 | Issue : 1 | Page : 30 - 30  


Poem
Anemia

अनेमिया

तेरी इन खूबसूरत आंखो में  मैंने, नमी सी देखी !

जो देखा इन्हे गौर से (आखो की पुतलीयों में) खून की कमी सी देखी !

बाज़ार में हरी  सब्जियाँ, साग और फल है बहुत,

मगर मैंने तेरी रसोई (किचन) में, कमी सी देखी !!

यू तो चना भी है, गूड़ भी है, बrज़ार मे,  ए मेरे हुज़ूर,

क्या तुम्हें मालुम नही, खून बढता है खाने से खजूर !!

कभी थकावट, कभी कमजोरी, तो कभी चक्कर, हाथ पैर थरथराना  !

काम करते करते छाती में दर्द और साँसों का फूल जाना !!

जाने अनजाने  बच्चों, बहनों और  माताओं को ये हो जाना  !

यहाँ तक की पुरुष, महापुरुष भी, इस से नही बच पाते !!

इसे, हाँ, इसी, बीमारी को मेडिकल साइन्स मे अनेमिया है बताते !

जो बाट रहें हैं, आइरन की गोली, वो भी नही हैं, इससे बच पाते !!

महिलाओं को जब ये प्रेगनेंसी में है होता !

डॉक्टर भी कुछ कुछ है घबराता !!

करना नही है, कुछ भी ज्यादा खास !

हिमोग्लोबिन का टेस्ट हो जाता,अपने घर के ही आस पास !!

इस समस्या के, इलाज़ एवं निदान बड़े ही सरल हैं  !

पर करनी तो आपको ही, जल्द से जल्द पहल है !!

आयरन की गोली हो गुलाबी, लाल, या फिर नीली

अनेमिया मुक्त भारत तभी होगा, जब डॉक्टर, आशा और एएनएम  के बताए नियमानुसार,

खाए आयरन युक्त आहार की थाली और जरूरत पड़ने पर आयरन की गोली !!

 

डॉ.मनीष तायवाड़े

 (मानव अज्ञानी)                                                                                 

सहायक प्रोफेसर

सामुदायिक एवं पारिवारिक चिकित्सा विभाग

एम्स, भुवनेश्वर ओडिशा 





img

Important links

adv apply rec

Open Access Journal

MRIMS Journal of Health Sciences is an open access journal which means that all content is freely available without charge to the user or his/her institution. Users are allowed to read, download, copy, distribute, print, search, or link to the full texts of the articles in this journal without asking prior permission from the publisher of the author. This is in accordance with the BOAI definition of open access.

Visitor Count


759366
© 2020 Chandramma Education society . All Rights Reserved.